जानिए क्या होता है इरेक्टाइल डिसफंक्शन और कैसे करें इलाज

जानिए क्या होता है इरेक्टाइल डिसफंक्शन और कैसे करें इलाज


इरेक्टाइल डिसफंक्शन एक ऐसी समस्या है, जिसके बारे में आमतौर पर लोग बात करना पसंद नहीं करते। उन्हें लगता है कि इससे उनकी मर्दानगी को लेकर सवाल उठेगा या फिर लोग उनका मजाक उड़ाएंगे। लेकिन यह वास्तव में एक गंभीर समस्या है और अगर इसके बारे में खुलकर बात ना की जाए तो व्यक्ति का पूरा वैवाहिक जीवन बर्बाद हो जाता है। अगर किसी को लगातार इरेक्टाइल डिसफंक्शन की परेशानी लगातार होती है तो इसके लिए उपचार की जरूरत होती है। तो चलिए जानते हैं इरेक्टाइल डिसफंक्शन के बारे में−

इसे भी पढ़ें: सोते समय बच्चा करता है बिस्तर गीला, अपनाएं यह नेचुरल उपाय

क्या है इरेक्टाइल डिसफंक्शन
इरेक्टाइल डिसफंक्शन ऐसी समस्या है जिसमें लिंग संभोग के लिए पर्याप्त उत्तेजित नहीं हो पाता है। इरेक्टाइल डिसफंक्शन इरेक्शन प्रोसेस के दौरान किसी भी तरह की समस्या के कारण हो सकता है। दअरसल, जब आपके प्राइवेट पार्ट में रक्त का प्रवाह बढ़ जाता है तो इससे वह उत्तेजित होता है। लेकिन अगर लिंग में रक्त का प्रवाह उतना अधिक नहीं होता, तो इससे व्यक्ति को इरेक्टाइल डिसफंक्शन की समस्या होती है। जब कोई पुरूष यौन उत्तेजित होता है, तो लिंग की मांसपेशियां रिलैक्स होती हैं। यह शिश्न की धमनियों के माध्यम से लिंग में रक्त के प्रवाह को बढ़ाने की अनुमति देता है। यह रक्त लिंग के दो चैम्बर में भरता जाता है। जैसे ही चेम्बर में रक्त भर जाता है, लिंग कठोर होता जाता है। लेकिन कई बार कई शारीरिक व मानसिक समस्या के कारण इस प्रक्रिया में बाधा उत्पन्न होती है और व्यक्ति का लिंग संभोग के लिए पर्याप्त रूप से उत्तेजित नहीं हो पाता।
 
कारण
इरेक्टाइल डिसफंक्शन के कई कारण हो सकते हैं। जैसे−
हृदय रोग
मधुमेह
उच्च रक्तचाप
उच्च कोलेस्ट्रॉल
मोटापा
कम टेस्टोस्टेरोन का स्तर या अन्य हार्मोन असंतुलन
गुर्दे की बीमारी
बढ़ती उम्र
तनाव
चिंता
डिप्रेशन
रिश्ते की समस्याएं
उच्च रक्तचाप या अवसाद का इलाज करने के लिए दवाओं का सेवन
नींद संबंधी विकार
नशीली दवाओं के प्रयोग
बहुत अधिक शराब का सेवन करना
तंबाकू उत्पादों का उपयोग करना
किसी चोट या सर्जरी के कारण पेल्विक एरिया को नुकसान पहुंचना
कुछ स्वास्थ्य स्थितयिाँ, जैसे पार्किंसंस रोग या मल्टीपल स्केलेरोसिस आदि।

इसे भी पढ़ें: दिल का दौरा पड़ने पर अस्पताल पहुंचने से पहले मरीज को दें यह उपचार

इलाज
इरेक्टाइल डिसफंक्शन की समस्या होने पर आसानी से इलाज किया जा सकता है। हालांकि इलाज से पहले इसके कारण को जानना जरूरी है। मसलन, अगर रिलेशन में समस्या या तनाव आदि के कारण यह समस्या है तो थेरेपी के जरिए इसका इलाज संभव है। वहीं किसी तरह की स्वास्थ्य समस्या होने पर डॉक्टर की सलाह पर दवाइयों का सेवन किया जा सकता है। इतना ही नहीं, हेल्दी लाइफस्टाइल अपनाकर भी इस समस्या को काफी हद तक ठीक किया जा सकता है।
 
मिताली जैन