छोटी सी मुलाकात में कह दी विकास की सारी बात

छोटी सी मुलाकात में कह दी विकास की सारी बात

विधायक से कैबिनेट मंत्री बनने के बाद डॉ. मोहन यादव ने पत्रकारों से हुई छोटी सी मुलाकात में विकास की कई बातें कह दी। कोरोना से निपटना हो, प्रदेश को आत्मनिर्भर बनाना हो, प्रशासन में सरलीकरण लाना हो, अनलॉक के चलते ट्रांसपोर्ट व्यवस्था बेहतर बनाना हो, विकास के समग्र मुद्दे को पत्रकारों के समक्ष पेश किया।

सोमवार को उज्जैन शहर के वरिष्ठ पत्रकारों का एक दल म.प्र. शासन के कैबिनेट मंत्री डॉ. मोहन यादव से संक्षिप्त मुलाकात करने के लिए पहुंचा। इस दौरान वरिष्ठ पत्रकार राजेन्द्र पुरोहित, सतीश गौड़, रामचन्द्र गिरि, राजेश रावत, इंदरसिंह चौधरी, हेमन्त भोपाळे ने कैबिनेट मंत्री का पुष्पहार पहनाकर स्वागत किया। इस दौरान एक संक्षिप्त चर्चा में डॉ. मोहन यादव ने बताया कि आम जनता की शिकायतों का निराकरण में सरलीकरण होना आवश्यक है।

बसों के न चलने पर डॉ. यादव ने कहा कि अभी तो एक बस में ५० प्रतिशत लोगों को ही बैठना उचित होगा। बसों या ट्रेनों के माध्यम से अधिक संख्या में लोगों को एक जगह से दूसरी जगह पहुंचाने का मतलब यह भी है कि बीमारी को भी एक जगह से दूसरी जगह पहुंचाना।

संभागीय स्तर के अधिकारियों के अलग-अलग स्थान पर बैठकर कार्यों का संचालन करने के संबंध में डॉ. यादव ने कहा कि संभाग स्तर के सभी वरिष्ठ अधिकारियों को एक ही स्थान पर बैठकर अपने कार्यों का संचालन करना चाहिए। स्वास्थ्य से संबंधित अधिकारी कहीं ओर बैठा है तो शिक्षा से संबंधित अलग। यदि सभी एक ही जगह बैठकर कार्य करे तो सभी का एक-दूसरे से तालमेल बेहतर होगा।

शहर को आत्मनिर्भर बनाने की दिशा में आपने कहा कि जिले की अन्य तहसीलों में भी औद्योगिक क्षेत्र स्थापित किए जाने की आवश्यकता है। इससे तहसीलों की विकास की संभावनाएँ भी प्रबल होंगी। सिंधिया समर्थकों के भाजपा में आने पर उन्होंने व्यंग्यात्मक अंदाज में कहा कि दूध में शकर तो पहले ही थी, थोड़ी सी शकर और मिल जाने से दूध और मीठा हो गया।

Follow करें और दोस्तों के साथ शेयर करना न भूले

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here