गूगल में आया नया अपडेट सिस्टम, कुछ इस तरह कर सकते है साइन-अप

Facebook


Google के नए ऑपरेटिंग सिस्टम Android 11 की आधिकारिक घोषणा कर दी गई है. इस नए ऑपरेटिंग सिस्टम के आधिकारिक बीटा प्रोग्राम को कंपनी ने लॉन्च किया है. इस नए ऑपरेटिंग सिस्टम को एक्सेस करने के लिए डिवाइसेज की लिस्ट भी जारी कर दी गई है. साथ ही, नए ऑपरेटिंग सिस्टम में कुछ नए फीचर्स भी जोड़े गए हैं. Google Android 11 में पिछले साल लॉन्च हुए Android 10 के मुकाबले कई अपग्रेड्स देखने को मिले हैं. खास तौर कंपनी ने इस बार भी मुख्य तौर पर प्राइवेसी फीचर्स पर फोकस किया है. जिस तरह Android 10 में कंपनी ने प्राइवेसी फीचर को अपग्रेड किया था, ठीक उसी तरह कंपनी ने इस साल भी प्राइवेसी फीचर को अपग्रेड किया है, ताकि यूजर्स के निजी डाटा को सुरक्षित किया जा सके.

प्राइवेसी फीचर में हुए ये अपग्रेड्स: Android 11 के प्राइवेसी फीचर्स की बात करें तो Google ने इस बार अपने ऑपरेटिंग सिस्टम में iOS से कुछ फीचर्स को अडॉप्ट किया है. इन फीचर्स में वन टाइम प्राइवेसी मुख्य तौर पर लाया गया है. इस फीचर की खास बात यह है कि ऐप डेवलपर्स के पास किसी यूजर का डाटा तब तक रहेगा, जब तक कि वो उस ऐप को इस्तेमाल करेगा. अगर, यूजर अपने डिवाइस से ऐप को अनइंस्टॉल कर देता है तो ऐप डेवलपर्स के पास से यूजर के डाटा का एक्सेस भी बंद हो जाएगा. खास तौर पर स्मार्टफोन के माइक्रोफोन, कैमरा, लोकेशन जैसे सेंसेटिव परमिशन को वन टाइम परमिशन के दायरे में ला दिया गया है. जैसे ही यूजर किसी ऐप को डाउनलोड करेगा तो उसके पास परमिशन ग्रांट करने का विंडो ओपन होगा, जिसमें यूजर ओनली दिस टाइम सिलेक्ट करके ऐप को केवल एक बार के लिए ही परमिशन ग्रांट कर सकते हैं. ऐसे में यूजर्स की निजी जानकारियां सुरक्षित रहेंगी और ऐप डेवलपर्स के पास नहीं पहुंचेगी.

कन्वर्सेशन फीचर अपग्रेड: Android 11 में Google ने कन्वर्सेशन फीचर को भी अपग्रेड किया है. इस फीचर के जरिए यूजर्स अपने डिवाइस में इंस्टॉल मल्टीपल मैसेजिंग ऐप्स के कन्वर्सेशन को एक ही नोटिफिकेशन स्पेस में देख सकेंगे. इस फीचर को लाने का मकसद यूजर्स की कन्वर्सेशन को और भी बेहतर करना है, ताकि यूजर्स आसानी से एक ही जगह पर अपने सारे ऐप्स के कन्वर्सेशन को मैनेज कर सके और रिस्पॉन्ड कर सके. साथ ही, यूजर अपने कन्वर्सेशन की प्रायरिटी भी डिसाइड कर सकेगे, जिसे यूजर अपने डिवाइस मौजूद मैसेजिंग ऐप में पिन कर सकते हैं. ऐसा करने से प्रायर कॉन्टैक्ट के किसी भी कन्वर्सेशन को यूजर मिस नहीं कर पाएंगे.

मीडिया कंट्रोल फीचर: Google ने अपने लेटेस्ट Android 11 में मीडिया कंट्रोल फीचर को भी इंट्रोड्यूस किया है, जिसकी वजह से यूजर अपने डिवाइस के साथ कनेक्टेड स्मार्ट डिवाइस को आसानी से मैनेज कर सकेंगे. इसके लिए यूजर को बस अपने स्मार्टफोन के पावर बटन को लॉन्ग प्रेश करना होगा. ऐसा करने से यूजर डिवाइस से कनेक्टेड डिवाइस में ऑडियो या वीडियो प्ले करने के लिए स्विच कर सकेंगे. यूजर्स जिन डिवाइस को सिलेक्ट करेंगे उसी डिवाइस पर ऑडियो या वीडियो प्ले होगा.

इन स्मार्टफोन्स के लिए है उपलब्ध: Google Android 11 को फिलहाल Google Pixel सीरीज के पहले मॉडल को छोड़कर सभी स्मार्टफोन्स के लिए रोल आउट किया गया है. इसे Pixel 2, Pixel 2 XL, Pixel 3, Pixel 3 XL, Pixel 3a, Pixel 3a XL, Pixel 4 और Pixel 4 XL के लिए उपलब्ध कराया गया है.

कैसे करें साइन-अप?: अगर, आपके पास Pixel डिवाइसेज हैं तो आप इस बीटा टेस्टिंग प्रोग्राम के लिए योग्य हैं. हालांकि, Google ने अपने Android 11 बीटा प्रोग्राम को सीमित डिवाइसेज के लिए ही रोल आउट किया है, जल्द ही यूजर्स को अन्य डिवाइसेज के लिए भी इस नए ऑपरेटिंग सिस्टम को एक्सेस करने का मौका मिलेगा. खास तौर पर स्टॉक एंड्रॉइड के साथ आने वाले डिवाइसेज जल्द ही इस प्रोग्राम का हिस्सा बन सकते हैं. इसके लिए यूजर्स को Google द्वारा जारी किए गए इस लिंक पर क्लिक करना होगा.

गूगल मैप्स में सुनने मिल सकती है अमिताभ बच्चन की आवाज

लॉकडाउन में ज्यादा स्मार्टफोन उपयोग करने से सकती हैं गंभीर बीमारियां

महिलाओं के लिए यह बेस्ट Eyebrow ट्रिमर