कोरोना के बीच दर्शकों के बिना झारखंड प्रीमियर लीग शुरू, छह टीेमें ले रही हैं हिस्सा

DA Image

वैश्विक महामारी कोरोना के कारण भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) अभी तक घरेलू सत्र को शुरू करने की तारीखें घोषित नहीं कर पाया है, लेकिन झारखंड राज्य क्रिकेट संघ (जेससीए) ने मंगलवार अपनी टी-20 लीग-झारखंड प्रीमियर लीग को एक सादे समारोह के साथ शुरू कर दिया।

रांची में जेससीए के इंटरनेशनल स्टेडियम में दर्शकों के बिना सादे समारोह के साथ इस लीग की शुरुआत हो गई। टूर्नामेंट में हिस्सा ले रही सभी छह टीमें पिच के आसपास के हिस्से में कतारबद्ध खड़ी थीं। कोरोना के कारण सामजिक दूरी के नियम का समारोह में पूरी तरह पालन किया गया। सभी ने चेहरों पर मास्क लगा रखे थे। स्टेडियम में दर्शक मौजूद नहीं थे। राष्ट्रगान के साथ समारोह की शुरुआत हुई और गुब्बारे आसमान में छोड़े गए।

अफगानिस्तान का सपना टी20 विश्व कप जीतना, प्रतिभा और कौशल की कमी नहीं: राशिद खान

बीसीसीआई ने देश में कोरोना के बढ़ते मामलों के कारण अभी तक घरेलू सत्र घोषित नहीं किया है और यह माना जा रहा है कि इस बार घरेलू सत्र काफी छोटा होगा। देश में मार्च से ही किसी भी तरह की क्रिकेट का कोई आयोजन नहीं हुआ है और 29 मार्च से शुरू होने वाला आईपीएल इस बार 19 सितम्बर से संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) के तीन शहरों में होने जा रहा है और इसका फाइनल 10 नवम्बर को होगा।

झारखंड प्रीमियर लीग का आयोजन झारखंड के नामी खिलाड़ियों महेंद्र सिंह धोनी, ईशान किशन, शाहबाज नदीम और वरुण आरोन के बिना हो रहा है जो आईपीएल में हिस्सा लेने के लिए यूएई में हैं। झारखंड प्रीमियर लीग में छह टीमें हैं जो झारखंड के छह जोन का प्रतिनिधित्व कर रही हैं। यह लीग 33 दिनों तक चलेगी। ये छह टीमें रांची रेडर्स, दुमका डेयरडेविल्स, धनबाद डायनामोस, सिंघभूम स्ट्राइकर्स, जमशेदपुर जगलर्स और बोकारो ब्लास्टर्स हैं।

कोरोना का असर: इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड को 9.5 अरब रुपए का नुकसान, 20% स्टाफ की होगी छंटनी

झारखंड राज्य के जेससीए से पंजीकृत खिलाड़ी ही इस लीग में हिस्सा ले रहे हैं। टूर्नामेंट में लगभग 100 खिलाड़ी हिस्सा ले रहे हैं। टूर्नामेंट में टीम फ्रैंचाइजी या टीम मालिक नहीं हैं। टूर्नामेंट का आयोजन स्टेडियम में जैव सुरक्षा वातावरण में हो रहा है।

Source link