कितना होना चाहिए एक भारतीय का औसत वजन और हाइट, जानें क्या है NIN के वैज्ञानिकों का कहना

DA Image

Ideal Weight Or Height For Every Indian: भागदौड़ भरी जिंदगी में बढ़ता मानसिक तनाव, अनियमित जीवनशैली, फास्ट फूड का बढ़ता सेवन, शारीरिक श्रम की कमी और बढ़ता प्रदूषण लोगों की सेहत पर तेजी से बुरा असर डाल रहा है। ऐसे में लोग खुद को मोटापे और उससे होने वाले रोगों से दूर रखने के लिए कभी जिम तो कभी योग का सहारा ले रहे हैं, ताकि उसका वजन उसकी हाइट के अनुसार बना रहे। पर क्या आप जानते हैं सेहतमंद बने रहने के लिए अब तक आप अपनी हाइट और वजन का जो अनुपात जानते थे वो अब बदल गया है।

जी हां, देश की सर्वोच्च मेडिकल रिसर्च एजेंसी भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद के तहत आने वाले शोध संस्थान नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ न्यूट्रिशन (NIN)ने भारतीय पुरूषों और महिलाओं के आइडल वेट और हाइट में परिवर्तन करते हुए मानक वजन में 5 किलो की बढ़ोतरी कर दी है।

साल 2010 में भारतीय पुरूषों के लिए वजन का मानक 60 किलो था, उसे बढ़ाकर 65 किलो कर दिया गया है। जबकि, साल 2010 में महिलाओं का आदर्श वजन का मानक 50 किलो था, जो बढ़कर 55 किलो हो गया है। इतना ही नहीं वजन के साथ-साथ अब भारतीय पुरुषों और महिलाओं की हाइट के मानक में भी बदलाव किए गए हैं।

साल 2010 में NIN के अनुसार, भारतीय पुरूषों की औसत लंबाई 5.6 फीट और महिलाओं की लंबाई 5 फीट थी। पुरूषों की औसत लंबाई अब बढ़ाकर 5.8 फीट और महिलाओं की 5.3 फीट कर दी गई है। अब सामान्य बॉडी मास इंडेक्स (BMI) इन पैमानों पर ही परखे जाएंगे। वैज्ञानिकों का कहना है कि भारतीयों की डाइट में पोषक तत्वों की बढ़ोतरी हुई है। यही वजह है कि उनके बॉडी मास इंडेक्स में भी ये बदलाव किए गए हैं।

Source link