कम मेहनत में शुरू करें गाय के गोबर से कारोबार और कमाएं लाखों रूपए

कम मेहनत में शुरू करें गाय के गोबर से कारोबार और कमाएं लाखों रूपए

दोस्तों आज हम आपको बता रहे हैं कि एक ऐसे बिजनेस आइडिया के बारे में जिसमें आप बहुत कम मेहनत के लाखों रुपये की कमाई कर सकते हैं। जी हां, हम आपको बताने जा रहे हैं गाय के गोबर से जुड़े कुछ व्यापारों के बारे में, जिन्हें करने के बारे आपने कभी शायद सोचा न हो। इनमें न तो आपकी कोई बहुत मेहनत लगेगी और न बहुत अधिक पूंजी।

तो चलिए फिर जानते हैं कि आप गाय के गोबर से कौन- कौन से कारोबार कर सकते हैं और लाखों रूपये कमा सकते हैं-

वेजिटेलबल डाई का कारोबार

गाय के गोबर से कई तरह के कारोबार किये जा सकते हैं। इनमें एक वेजिटेबल टाई बनाना।

आप गाय के गोबर से कागज बनाने के साथ-साथ वेजिटेबल डाई बनाने का व्यवसाय कर सकते हैं। जानकारी के लिए बता दें कि गोबर में से कागज बनाने के लायक केवल 7 फीसदी मैटेरियल निकलता है।

बचे हुए 93 फीसदी को वेजिटेबल डाई बनाने में आसानी से इस्तेमाल किया जा सकता है।

वेजिटेबल डाई पर्यावरण के लिए बेहतर होती हैं साथ ही आप इनका निर्यात भी कर सकते हैं।

 

गोबर बेचें और बढ़ाएं अपनी आमदनी

अगर आप गाय के गोबर से कोई कारोबार न करने चाहें तो भी आप इससे कमाई जरूर कर सकते हैं।

आपको बता दें कि गोबर को 5 रुपये प्रति किलो के भाव पर आसानी से बेचा जा सकता है।

सरकार खुद भी कागज और विजिटेबल डाई बनाने के लिए 5 रुपये प्रति किलोग्राम के भाव पर किसानों से गोबर खरीदती है।

छोटे किसानों के लिए एक फायदे का सौदा हो सकता है, जो 50-10 रुपये प्रति की आमदनी से अपनी मासिक आय बढ़ा सकते हैं। वैसे गांवों में गोबर के उपलों का भी कारोबार होता है।

 

गोबर का कारोबार शुरू करने के लिए पूंजी कितनी चाहिए?

बता दें कि अगर आप गाय के गोबर से कागज बनाने का कारोबार शुरू करने की सोच रहे हैं तो आपको इसके सरकार की मदद मिल सकती है। सरकार इसके प्लांट की शुरुआत करने के लिए कर्ज दे रही है।

वैसे गोबर से कागज बनाने वाले प्लांट की शुरुआत करने में 15 लाख रुपये की पूंजी चाहिए होगी। इससे आप हर महीने 1 लाख कागज के बैग बना कर बेच सकते हैं, जिससे आपको अच्छी खासी आमदनी होगी।

 

जाने गाय के गोबर से जुड़े ये रोजक तथ्य

प्रकृति के 99% कीट प्रणाली के लिए लाभदायक हैं। गौमूत्र या खमीर हुए छाछ से बने कीटनाशक इन सहायक कीटों को प्रभावित नहीं करते। एक गाय का गोबर 7 एकड़ भूमि को खाद और मूत्र 100 एकड़ भूमि की फसल को कीटों से बचा सकता है। केवल 40 करोड़ गौवंश के गोबर व मूत्र से भारत में 84 लाख एकड़ भूमि को उपजाऊ बनाया जा सकता है।

गौमूत्र और गोबर फसलों के लिए बहुत उपयोगी कीटनाशक सिद्ध हुए हैं। कीटनाशक के रूप में गोबर और गौमूत्र के इस्तेमाल के लिए अनुसंधान केंद्र खोले जा सकते हैं, क्योंकि इनमें रासायनिक उर्वरकों के दुष्प्रभावों के बिना खेतिहर उत्पादन बढ़ाने की अपार क्षमता है। इसके बैक्टीरिया अन्य कई जटिल रोगों में भी फायदेमंद होते हैं। गौमूत्र अपने आस-पास के वातावरण को भी शुद्ध रखता है।

वैज्ञानिक कहते हैं कि गाय के गोबर में विटामिन बी-12 प्रचुर मात्रा में पाया जाता है। यह रेडियोधर्मिता को भी सोख लेता है। आम मान्यता है कि गाय के गोबर के कंडे से धुआं करने पर कीटाणु, मच्छर आदि भाग जाते हैं तथा दुर्गंध का नाश हो जाता है।

 

इस तरह से आप आराम से गाय के गोबर का कारोबार शुरू करके ढेरों रूपए कमा सकते हैं। आपको हमारा यह पोस्ट कैसा लगा, हमें कमेंट करके जरूर बताएं साथ ही आपको कोई सवाल हो, तो आप कमेंट सेक्शन में कमेंट करके हमसे पूछ सकते हैं।

Credit-janhitmejaari

Follow करें और दोस्तों के साथ शेयर करना न भूले

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here