कपिल शर्मा ने श्री श्री रविशंकर से पूछा भगवान का असली कॉन्सेप्ट क्या है? मिला यह जवाब

कपिल शर्मा ने श्री श्री रविशंकर से पूछा भगवान का असली कॉन्सेप्ट क्या है? मिला यह जवाब


आज बॉलीवुड में कपिल शर्मा को कॉमेडी किंग कहा जाता है। बहुत ही कम समय में कपिल ने अपने हुनर से सबको पछाड़ दिया। कपिल शर्मा आध्यात्मिक नेता एवं मानवतावादी धर्मगुरु श्री श्री रविशंकर के साथ सोशल मीडिया पर लाइव थे। इस दौरान कपिल शर्मा ने श्री श्री रविशंकर जी से अपने हंसमुख अंदाज में भगवान को लेकर प्रश्न किया। कपिल ने पूछा कि भगवान का कॉन्सेप्ट क्या है गुरु जी। कपिल का सवाल था कि कोई कहता है भगवान मंदिर में पूजा करने से मिलते हैं, तो कोई कहता है मस्जिद में नवाज करने से, किसी का कहना है कि प्रकृति में ही भववान है। आखिर भगवान है क्या उनका क्या कॉन्सेप्ट हैं?
 

इसे भी पढ़ें: रामायण की सीता दीपिका चिखलिया बनेंगी सरोजिनी नायडू, फिल्म का फर्स्ट लुक रिलीज

कपिल के इस सवाल पर मानवतावादी धर्मगुरु श्री श्री रविशंकर ने कहा कि भगवान प्रेम हैं और ये आपके अंदर हैं। उन्होंने कहा सब कहते है खुदा का आप देख नहीं सकते लेकिन मैं कहता हूं एक खुदा ही है जिसे आप आप अपने अंदर देख सकते हों। इसके बाद कपिल ने कहा की गुरुदेव वो हमारी बचपन वाली खुशी कहां चली गई? कपिल ने अपने आप से जुड़ा बचपन का एक किस्सा सुनाते हुए कहा कि मेरी पिता हेड कॉस्टेबल थे हम अपने परिवार के साथ सरकारी क्वार्टर में रहा कहते थे। हमारी कलॉनी में रोज एक चाट बेचने वाला आता था। जब वह आता था तो वह चाट वाले तवे पर चिमता मार कर शौर करता था इस शौर को सुन कर सभी बच्चे चाट खाने बाहर आ जाते थै। उस समय 2 रू की चाट इतनी खुशी देती थी लेकिन अब बड़ी-बड़ी गाड़ियां भी वो खुशी नहीं दे पाते।

रविशंकर ने इसके जवाब में कहां खुशी न 2 रू की चाट में हैं न हीं 2 करोड़ की गाड़ी में आपको अब मिलेगी। खुशी भी आपके अंदर है। बस उसे ढूंढ़ना हैं। रविशंकर ने कपिल को बताया कि लेने पर जो खुशी मिलती है वो सीमित है। मगर देने पर जो खुशी मिलती है वो असीमित है। तुम्हें जो खुशी चाहिए वो तुम्हारे ही भीतर है।