कई वर्षों बाद 20 नवंबर को फिर राशि बदलेंगे देव गुरु बृहस्पति, कई राशियों पर होगा इनका प्रभाव

db16ac2646a9590a469fe4992cb979c3?source=nlp&quality=uhq&format=webp&resize=720

होशंगाबाद। देव गुरु बृहस्पति (Dev guru brhaspati) इस साल एक बार फिर अपनी राशि परिवर्तन करेंगे। पंडित शुभम दुबे ने बताया कि देव गुरु बृहस्पति एक राशि पर 13 महीने तक रहते हैं। लेकिन 20 नवंबर , 2020 को अपनी धनु राशि (Dhanu Rashi) से पुनः शनि देव की मकर राशि (Makar Rashi) में चले जाएंगे। 20 नवंबर से पहले देव गुरु बृहस्पति अपनी ही धनु राशि में शुभ स्थिति में रहेंगे। 13 सितंबर 2020 को ही देव गुरु बृहस्पति अपनी धनु राशि में मार्गी हुए हैं। परमार की गति से आगे बढ़ते हुए 20 नवंबर को वह फिर मकर राशि में चले जाएंगे जो की बृहस्पति की नीच राशि है अपनी नीच राशि में बैठने के बाद देव गुरु बृहस्पति हालांकि अनिष्ट फल तो नहीं देते लेकिन उनका शुभ प्रभाव कम जरूर हो जाता है। देव गुरु बृहस्पति 20 नवंबर को अपनी नीच राशि मकर में आने के बाद अगले साल 2021 में एक बार फिर से अपनी राशि परिवर्तन करेंगे और 6 अप्रैल 2021 को मकर राशि से शनि की ही कुंभ राशि में चले जाएंगे।

गुरु बृहस्पति को नवग्रहों में सबसे महत्वपूर्ण

वैदिक ज्योतिष शास्त्र में देव गुरु बृहस्पति को नवग्रहों (Navgrah) में सबसे महत्वपूर्ण माना जाता है और उनके गोचर को भी एक महत्वपूर्ण ज्योतिष्य माना जाता है। इन्हें अत्यंत शुभ ग्रह भी माना जाता है । देव गुरु बृहस्पति हमारे जीवन में उन्नति की राह खोलते हैं । देवराज बृहस्पति को ही ज्ञान, कर्म , धन , पुत्र पौत्र आदि और विवाह का कारक माना जाता है। इन्हें अध्यात्म और विवेक का कारक भी माना जाता है और इन्हें दार्शनिक का दर्जा भी दिया गया है । यह ज्ञान के दाता हैं।

ऐसा माना जाता है कि देव गुरु बृहस्पति हमारे आध्यात्मिक ज्ञान व हमारी बुद्धि को निर्देशित करते हैं और जिस जातक पर यह प्रसन्न होते हैं, उसे जिंदगी में किसी चीज की कभी कमी नहीं रहती। समाज में खूब मांन सम्मान यश कीर्ति मिलता है। जिन लोगों की कुंडली में बृहस्पति का प्रभाव अधिक होता है, उस व्यक्ति का मन धर्म और आध्यात्मिक कार्य में बहुत अधिक लगा रहता है।

20 नवंबर को जब देव गुरु बृहस्पति अपनी राशि परिवर्तन करके अपनी नीच मकर राशि में चले जाएंगे तो कई महत्वपूर्ण घटनाएं भी घटित होंगी जैसे कि बहुत महत्वपूर्ण है देश की अर्थव्यवस्था। इस पर भी बहुत असर पड़ेगा। अगर हम वही बात करे शिक्षा की तो शिक्षा के क्षेत्र में भी कई बदलाव देखने को मिलेंगी। देव गुरु बृहस्पति के 20 नवंबर को राशि बदलने पर विभिन्न राशियो पर भी बहुत प्रभाव पड़ेगा।

12 राशियों पर असर
मेष : धन लाभ होगा। मेहनत का फायदा मिलेगा। भाइयों और दोस्तों से भी मदद मिल सकती है।
वृष : धन हानि के योग बन रहे हैं। कोई गुप्त बात उजागर हो सकती है।
मिथुन : जीवनसाथी से विवाद हो सकता है। सेहत संबंधी परेशानी होगी।
कर्क : सेहत में फायदा होगा। दुश्मनों पर जीत मिल सकती है। यात्राएं हो सकती हैं।
सिंह : आर्थिक परेशानी हो सकती है। योजनाएं अधूरी रह सकती हैं। पुत्र की चिंता बढ़ सकती है।
कन्या : सुख में कमी आ सकती है, लेकिन नौकरी और बिजनेस में आगे बढ़ने के मौके मिलेंगे।
तुला : प्यार में सफलता मिल सकती है। धार्मिक यात्रा होने के योग हैं। उत्तर दिशा की तीर्थ यात्रा हो सकती है।
वृश्चिक : तरक्की के योग बन रहे हैं। कामकाज पूरे होंगे। धन लाभ होगा ।
धनु : सुखद सूचना मिलेगी। रोजमर्रा के कामों से फायदा हो सकता है।
मकर : सफलता के साथ स्थान परिवर्तन के योग बन रहे हैं। लेकिन सेहत संबंधी परेशानी रहेगी। यात्रा के योग भी हैं।
कुंभ : पेट व गले में बीमारी हो सकती है। संतान की सेहत को लेकर परेशान रहेंगे। योजनाएं अधूरी रह सकती है।
मीन : किस्मत का साथ मिलेगा। सम्मान भी बढ़ेगा। संपत्ति लाभ के योग बन रहे हैं।