‘एबी डिविलियर्स विशेष बल्‍लेबाज हैं, मुझे जल्‍दी आउट हो जाना चाहिए था’, जानिए ऐसा किसने कहा

'एबी डिविलियर्स विशेष बल्‍लेबाज हैं, मुझे जल्‍दी आउट हो जाना चाहिए था', जानिए ऐसा किसने कहा

दुबई: एबी डिविलियर्स की सोमवार को कोलकाता नाइटराइडर्स के खिलाफ आक्रामक पारी देखने के बाद रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के ओपनर आरोन फिंच ने मजाकिया लहजे में कहा कि उन्‍हें जल्‍दी आउट हो जाना चाहिए था। आरोन फिंच भी फॉर्म की तलाश में थे और उन्‍होंने केकेआर के गेंदबाजों पर दबाव बनाकर शानदार शुरूआत हासिल की। हालांकि, फिंच की पारी पावरप्‍ले के बाद धीमी हो गई और शारजाह की धीमी पिच पर वो 37 गेंदों में 47 रन बनाकर आउट हुए।

एबी डिविलियर्स और विराट कोहली

फिंच के आउट होने के बाद क्रीज पर एबी डिविलियर्स आए और उन्‍होंने पूरा समीकरण बदलकर रख दिया। एबीडी ने पहली ही गेंद से आक्रामक रुख अख्तियार किया और अपनी पारी के दौरान कई आकर्षक शॉट्स खेले। मिस्‍टर 360 डिग्री के नाम से मशहूर एबी डिविलियर्स ने बल्‍लेबाजी को इतना आसान बना दिया था जबकि विराट कोहली उसी समय संघर्ष करते हुए नजर आ रही थे।

फिंच के कमेंट ने जीता एबीडी का दिल

कोलकाता नाइटराइडर्स ने आरसीबी को कम स्‍कोर पर रोकने के लिए अपना पूरा जोर लगाया। ओपनर्स आरोन फिंच और देवदत्‍त पडिक्‍कल ने पहले विकेट के लिए 67 रन जोड़े। हालांकि, डिविलियर्स ने आते ही आईपीएल 2020 की सबसे यादगार पारियों में से एक खेली। उन्‍होंने अपनी पारी के दौरान पांच चौके और छह छक्‍के जमाए। डिविलियर्स ने केवल 33 गेंदों में नाबाद 73 रन बनाए। उनकी पारी की बदौलत आरसीबी ने 20 ओवर में 194 रन का विशाल स्‍कोर बनाया।

फिंच ने कहा, ‘बॉली नर्म हुई, चमक खत्‍म हुई तो रन बनाना मुश्किल हो रहा था। केकेआर के गेंदबाज धीमी गति की गेंदे और कटर से परेशान कर रहे थे। एबी डिविलियर्स विशेष बल्‍लेबाज हैं। उनके जैसे स्‍तर का बल्‍लेबाज ही बिना किसी झिझक के मैदान के बाहर गेंदें पहुंचा सकता है। उनकी उपस्थिति ने विरोधी टीम को पूरी तरह दबाव में डाल दिया। एबीडी ने पिच को बहुत आसान बना दिया था।’

फिंच ने आगे कहा, ‘शायद मुझे जल्‍दी आउट हो जाना चाहिए था। एक समय हमने सोचा था कि 180 रन का स्‍कोर भी अच्‍छा होगा। मगर हमने 194 रन का विशाल स्‍कोर खड़ा किया।’ एक तरफ एबीडी बेहतरीन पारी खेल रहे थे जबकि दूसरे छोर पर विराट कोहली संघर्ष करते नजर आ रहे थे। चेन्‍नई के खिलाफ 52 गेंदों में 90 रन बनाने वाले कोहली ने केकेआर के खिलाफ पहली बाउंड्री 25वीं गेंद पर जमाई।