एक ऐसा मंदिर जहां मां दुर्गा की प्रतिमा तीन बार बदलती है अपना रूप

एक ऐसा मंदिर जहां मां दुर्गा की प्रतिमा तीन बार बदलती है अपना रूप

बलिया  |  बलिया-रसड़ा मुख्य मार्ग पर चिलकहर से लगभग तीन किमी दक्षिण उचेड़ा गांव में स्थित भगवती देवी के मंदिर का विशेष महत्व है , दर्शन-पूजन करने वाले लोगों की मानें तो मां भवानी दिन में तीन बार अपना रूप बदलती हैं जिसे देख हर कोई आश्चर्य चकित रह जाता है , मां भवानी के रूप एवं महिमा की चर्चा सुनकर जनपद ही नहीं अपितु अन्य जनपदों के श्रद्घालु भी अपने को यहां आने से नहीं रोक पाते और बरबस ही खींचे चले आते हैं , उचेड़ा गांव स्थित मां भगवती मंदिर के संबंध में मान्यता है कि मां दिन में तीन बार अपना रंग-रूप बदलती हैं ।

सुबह के समय मां बाल रूप में तो दोपहर को युवा रूप में दिखाई देती हैं , शाम को भगवती का रूप एक वृद्ध का हो जाता है मां के इस रूप की चर्चा सुन दूर-दराज के श्रद्घालु भी मां उनके दर्शन-पूजन को आते हैं , यहां चैत्र नवरात्र में बहुत बड़ा मेला लगता है जो पूरे नौ दिनों तक चलता है , यदि यह कहा जाए कि इस पिछड़े इलाके की पहचान मां भगवती की कृपा से ही है तो कोई अतिशयोक्ति नहीं , मां के बारे में लोगों का कहना है कि उनकी सच्ची अराधना करने वाला मनोवांछित फल प्राप्त करता है ।

Follow करें और दोस्तों के साथ शेयर करना न भूले

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here