इम्युनिटी बढाने के लिए विंटर में कैसा हो आपका खान-पान? (How To Boost Your Immunity In Winter?)

How To Boost Immunity

इम्युनिटी बढाने के लिए विंटर में कैसा हो आपका खान-पान? (How To Boost Your Immunity In Winter?)

सर्दियों का आगाज़ हो चुका  है, धीरे-धीरे ठंड ज़ोर पकड़ती जा रही है. सर्दी से बचने के लिए इस मौसम में सेहत का ध्यान रखना बहुत जरूरी है. अच्छी सेहत के लिए आवश्यक है कि आपका खानपान संतुलित और पोषक तत्वों से भरपूर हो, ताकि सर्दी के कारण होनेवाली मौसमी बीमारियों, जैसे- सर्दी-ज़ुकाम, बुखार, गले में दर्द, खराश, नाक बहना और बंद होना, ठंड से छाती में दर्द होना आदि बीमारियों से बचा जा सके. इसलिए सर्दियों में विशेष रूप से खानपान पर ध्यान रखने आवश्यकता होती है. इस लेख में हम आपको बता रहे हैं कि सर्दियों  में अच्छी सेहत और फिट रहने के लिए आपका खानपान कैसा  होना चाहिए?

सर्दियों में इम्युनिटी बढ़ाने के लिए खाएं ये सब्ज़ियां

गाजर

गाजर मौसमी सब्ज़ी है, जो केवल सर्दियों में ही मिलती है. गाजर में
विटामिन ए और ई, पोटैशियम और कैरीटोनॉइड जैसे पौष्टिक तत्व होते हैं, जो प्राकृतिक
रूप से इम्युनिटी को मजबूत बनाने में मदद करते हैं. गाजर को सलाद, सूप, जूस, सब्ज़ी,
पराठा और पुलाव में मिलाकर खा सकते हैं. इसे खाने से शरीर को आवश्यक पोषक तत्व तो मिलेंगे
ही, साथ ही शरीर को बीमारियों से लड़ने की ताकत भी मिलती है, इसलिए इसे अपनी डायट में
जरूर शामिल करें.

पालक

How To Boost Immunity

 हरी पत्तेदार सब्ज़ी पालक
अधिकतर लोगों को बिलकुल भी अच्छी नहीं लगती है. यह जानते हुए कि इसमें विटामिन सी,
एंटीऑक्सीडेंट्स और बीटा कैरोटीन के अलावा बहुत सारे पोषक तत्व होते हैं, जो शरीर को
हर तरह के संक्रमण से लड़ने के लिए तैयार करते हैं. यह भी मौसमी सब्ज़ी है, इसलिए इसे
अपनी विंटर डायट में जरूर शामिल करें. पालक को सब्ज़ी, सलाद, रायता, पराठा, पूरी, जूस,
शेक के रूप में डायट में खा सकते हैं. अलग-अलग तरीके बनाकर से पालक खाएंगे, तो खाने
में बोरियत भी नहीं लगेगी और सेहत को लाभ मिलेगा.

अदरक

Ginger

अदरक में ऐसे एंटीऑक्सीडेंट्स और एंटीवायरल प्रॉपर्टीज़ होती हैं,
जो इम्युनिटी को मजबूत बनाने में मदद करते हैं. बहुत अधिक ठंड से सर्दी, खांसी, बुखार,
गले में सूजन, खराश और दर्द जैसी समस्याएं होने लगती हैं. ऐसे अदरक का सेवन बहुत फायदेमंद
होता है. डायट में अदरक को कई तरह से लिया जा सकता है. सर्दियों में गले में खराश,
दर्द, सूजन, सर्दी-ज़ुकाम होने पर अदरक का रस शहद के साथ मिलाकर लें या फिर  अदरक की चाय बनाकर पीने से भी गले की तकलीफों में
आराम मिलता है. इसके अलावा अदरक को सब्ज़ी, सलाद और पराठे में मिलाकर भी खा सकते हैं.

प्याज़

Onion

प्याज़ की तासीर गर्म होती है, इसलिए सर्दियों में प्याज़ विशेष रूप
से खान चाहिए. इसमें ऐसे औषधीय गुण होते हैं, जो शरीर को ठंड से बचाते हैं. प्याज़ सर्दियों
में होनेवाले संक्रमण से बचाता है. प्याज़ के रस, शहद और कालीमिर्च पाउडर को गर्म करके
खाने पर गले की खराश और सर्दी-जुकाम दूर होता है.

लहसुन  

Garlic

इम्युनिटी बूस्टर फूड में सबसे पहला नाम लहसुन का आता है. इसमें
ऐसे एंटीवायरल गुण भी होते हैं, जो वायरल इंफेक्शन से बचाने में मदद करते हैं. इतना
ही नहीं, इसमें एंटीइन्फ्लेमेट्री गुण भी होते हैं, जो शरीर में होनेवाली सूजन को कम
करने में मदद करते है.

कुछ अन्य
सब्ज़ियां

vegetables

उपरोक्त के अलावा चुकंदर, मूली, पत्तागोभी, शिमला मिर्च, ब्रोकोली
को सर्दियों में सलाद के तौर पर खा सकते हैं. इन सभी में ऐसे पोषक तत्व होते हैं, जो
इम्युनिटी बढ़ाने के साथ-साथ शरीर को दिनभर ऊर्जावान रखते हैं.

 सर्दियों में विशेष रूप से खाने में शामिल करें इन मसालों को

भारतीय खाने का मज़ा मसालों के बिना अधूरा है. जब तक खाने में मसाले
न मिलाए जाएं, खाने का लुत्फ़ ही नहीं आता है. इन मसालों में ऐसे औषधीय गुण भी होते
हैं, जो सर्दियों में सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होते हैं. यदि इनका सही तरीके और मात्रा
में उपयोग किया जाए, तो ये मसाले शरीर को न केवल बीमारियों से बचाते हैं, बल्कि इम्युनिटी
को बढ़ाने में मदद करते हैं-

हल्दी

haldi

हल्दी में एंटीफंगल, एंटीबैक्टीरियल, एंटीवायरल और एंटीएलर्जिक गुण
होते हैं, जो शरीर को बीमारियों से लड़ने की ताकत प्रदान करते हैं. जिन लोगों की रोग-प्रतिरोधक
क्षमता कमज़ोर होती है, उन्हें सरदी के मौसम में बीमारियां अपनी चपेट में बहुत जल्दी
ले लेती हैं और हल्दी में ऐसे औषधीय गुण होते हैं, जो शरीर को सर्दियों में होनेवाली
मौसमी बीमारियों से बचाते हैं. बहुत अधिक ठंड के कारण जिन लोगों को अस्थमा और सर्दी-ज़ुकाम
की परेशानी बढ़ जाती है, उनके लिए हल्दी रामबाण का काम करती है. सर्दियों में इम्युनिटी
बढ़ाने के लिए दूध में हल्दी मिलाकर पीने से बहुत लाभ होता है.

दालचीनी 

daal cheni

सर्दियों में ठंड से बचने के लिए खाने में दालचीनी को जरूर शामिल
करें. इसमें एंटीऑक्सीडेंट गुण होने के साथ-साथ कैल्शियम, मैग्नीशियम, आयरन और विटामिन
ई भी होता है, जो इम्युनिटी को स्ट्रांग बनाने में मदद करता है, इसलिए अपनी रोग-प्रतिरोधक
क्षमता बढ़ाने के डायट में  दालचीनी किसी-न-किसी
रूप में जरूर शामिल करें, विशेष रूप से सर्दियों में. ठंड लगने पर सर्दी-ज़ुकाम या गले
की तकलीफ होने पर चुटकीभर दालचीनी में आध टीस्पून शहद मिलाकर खाने से तुरंत आराम मिलता
है. अगर कफ से परेशान हैं, तो समान मात्रा में दालचीनी और कालीमिर्च पाउडर को शहद के
साथ खाने से जल्दी आराम मिलता है.

केसर

kesar

केसर केवल खाने का रंग और स्वाद ही नहीं बढ़ाता है, बल्कि शरीर की
रोग-प्रतिरोधक क्षमता में भी वृद्धि करता है. इसकी तासीर गर्म होती है. इसलिए सर्दी
में इसे खाने की सलाह दी जाती है. केसर को अनेक तरह से डायट में शामिल कर सकते है,
जैसे – पुलाव या सूप में डालकर खा सकते हैं. इतना ही नहीं सर्दियों में केसर को गर्म
दूध में मिलाकर पीने से सर्दी-जुकाम दूर होता है और केसर शरीर को ठंड से भी बचाता है.
केसर-लौंग-दालचीनी-इलायचीवाली चाय (कहवा) पीने से शरीर में गर्माहट आती है.

लौंग

Cloves

खाने का स्वाद बढ़ाने के साथ-साथ लौंग में बहुत सारे औषधीय गुण भी
होते हैं, जो इम्यूनिटी बूस्टर का काम करते हैं. इसमें कैल्शियम, फास्फोरस, आयरन, सोडियम,
पोटैशियम और विटामिन सी होता है, जो शरीर को रोगों से बचाने में मदद करता है. अगर गले
में खराश या दर्द होने पर लौंग को चूसने पर तुरंत आराम मिलता है. सब्ज़ी में डालने के
अलावा लौंग को चाय, दूध या काढ़े में उबालकर छानकर पी कर सकते हैं.

जीरा

jeera

जीरा केवल पाचन और वजन कम करने में ही मदद नहीं करता है, बल्कि शरीर में इम्युनिटी बढ़ाने का काम भी करता है. इसमें मैग्नीशियम और आयरन प्रचुर मात्रा में होता है, जो ब्लड प्रेशर कंट्रोल को भी नियंत्रित करता है. ठंड के कारण जिन लोगों को सांस संबंधी परेशानी होती है, उन्हें अपनी विंटर डायट में जीरा जरूर शामिल करना चाहिए. इसमें एंटीइंफ्लेमेटरी, एंटीबैक्टेरियल और एंटीफंगल ऑक्सीडेंट्स होते हैं, जो ठंड के कारण शरीर में होनेवाली सूजन और वायरल इंफेक्शन से शरीर को बचाते हैं. जीरे में विटामिन सी और विटामिन ए भी होता है, जो शरीर को बैक्टीरियल इंफेक्शन से बचाता है.

इलायची

ilaayachee

भारतीय खाने में फ्लेवर बढ़ाने का काम करती है इलायची. इसलिए तो इलायची
को सब्ज़ी से लेकर डेजर्ट में मिलाया जाता है. इसमें एंटीऑक्सीडेंट, एंटीइंफ्लेमेटरी
प्रॉपर्टीज़ और औषधीय गुण होने के कारण इलायची अस्थमा, जुकाम और खांसी में बहुत फायदेमंद
होती है. पोटैशियम, मैग्नीशियम, विटामिन बी1, बी6 और विटामिन सी होने के कारण इलायची
इम्यूनिटी को भी बूस्ट करती है. सर्दियों में इसका रोज़ाना सेवन करने से कफ़ में आराम
मिलता है. इसमें फाइबर और कैल्शियम भी होता है, जो वजन कम करने और पाचन तंत्र को बेहतर
बनाने में मदद करता है.

मौसमी फल

ठंड के मौसम में अपने को बीमारियों से बचाने आवश्यक है कि डायट में विटामिन सी से भरपूर फलों को सेवन करें, जैसे संतरा, अंगूर, अमरूद, अनार आंवला और नीबू आदि विटामिन रिच फ्रूट्स हैं. इन फलों में एंटीऑक्सीडेंट्स होते हैं, जो शरीर की रोगप्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में सहायक होते हैं.

गर्मगर्म  पेय पदार्थ पीएं 

hot beverages

 हल्दी वाला गरम दूध, मसाला दूध,  मसाला चाय, कॉफी, सूप, कहवा आदि, इन चीजों को पीने से  शरीर में गर्माहट आती  और मौसमी  बीमारियों में आराम  मिलता है.

पूनम नागेंद्र शर्मा

और भी पढ़ें: किचन में मौजूद हैं इम्यूनिटी बूस्टर फूड्स और मसाले, आज़माएं ये घरेलू नुस्ख़े व किचन टिप्स (Top Immunity Boosters Available In The Kitchen)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here