आज ही बेटी के नाम खोलें ये खाता, 21 साल की उम्र में अकाउंट में होंगे 64 लाख रुपए

आज ही बेटी के नाम खोलें ये खाता, 21 साल की उम्र में अकाउंट में होंगे 64 लाख रुपए

आज ही बेटी के नाम खोलें ये खाता, 21 साल की उम्र में अकाउंट में होंगे 64 लाख रुपए

बेटी के भविष्य को संवारने के लिए सरकार की सुकन्या समृद्धि योजना (Sukanya Samriddhi Scheme 2020) बड़े काम की है. सुकन्या समृद्धि योजना (Sukanya Samriddhi Scheme) में निवेश कर आप अपनी बेटी की उच्च शिक्षा और शादी के खर्चों को आसानी से पूरा कर सकते हैं. जिसमें गारंटीड मुनाफा मिलता है. 

अगर आप बेटी की कम आयु में ही योजना में निवेश करना शुरू कर देते हैं, तो इस स्कीम में 15 सालों तक निवेश कर सकते हैं. आइए जानते हैं कैसे बेटी के लिए जमा कर सकते हैं 64 लाख रुपए. 

सुकन्या समृद्धि अकाउंट स्कीम 2020 डिपॉजिट-एक वित्तीय वर्ष के दौरान किसी एक अकाउंट में अधिकतम 1.5 लाख रुपये तक जमा किया जा सकता है. वहीं, एक वित्तीय वर्ष में न्यूनतम जमा राशि 250 रुपये है. इसका मतलब है कि किसी एक अकाउंट में एक वित्तीय वर्ष में आप अधिक से अधिक 1.5 लाख रुपये और कम से कम 250 रुपये तक निवेश कर सकते हैं. अगर कोई व्यक्ति गलती से इस खाते में एक 1.5 लाख रुपये से अधिक जमा कर देता है यह रकम ब्याज के ​लिए नहीं कैलकुलेट किया जाएगा. साथ ही इस रकम को डिपॉजिटर्स के खाते में रिटर्न कर दिया जाएगा. इस खाते में 15 साल तक डिपॉजिट किया जा सकता है. 

कितना मिल रहा ब्याज-सुकन्या समृद्धि योजना में इस समय 7.6 फीसदी की दर से ब्याज मिल रहा है. इस योजना में खाता खुलवाते समय जो ब्याज दर रहती है, उसी दर से पूरे निवेश काल के दौरान ब्याज मिलता है. सरकार ने पोस्‍ट ऑफिस सेविंग अकाउंट समेत सभी स्‍मॉल सेविंग स्‍कीम (Small Saving Schemes) में किए गए निवेश पर जुलाई-सितंबर तिमाही के लिए मिलने वाले ब्‍याज की दरों में कोई बदलाव नहीं (Interest Rates Unchanged) किया है.

मैच्योरिटी पर मिलेंगे 64 लाख रुपए-मौजूदा ब्याज दर के हिसाब से अगर हर वित्तीय वर्ष में 1.5 लाख रुपये 15 साल तक जमा किया जाता है तो इस पर आपके द्वारा जमा किया गया कुल रकम 22,50,000 रुपए होगा और इस पर ब्याज 41,36,543 रुपए बनेगा. हालांकि, यह अकाउंट 21 साल पूरे होने के बाद मैच्योर होगा. ऐसे में अकांउट पर जमा किए गए रकम पर ब्याज मिलता रहेगा. 21 साल तक यह रकम ब्याज के साथ बढ़कर करीब 64 लाख रुपए हो जाएगा. आपको इस बात का ध्यान रखना होगा कि सुकन्या समृद्धि योजना पर मिलने वाला ब्याज केंद्र सरकार हर तिमाही में तय करती है. ऐसे में मैच्योरिटी तक ब्याज दर में कई बार बदलाव हो सकते हैं. 

कौन से दस्‍तावेजों की है जरूरत: सुकन्‍या समृद्धि अकाउंट खुलवाने का फॉर्म. बच्‍ची का जन्‍म प्रमाणपत्र. जमाकर्ता (माता-पिता या अभिभावक) का पहचान पत्र जैसे पैन कार्ड, राशन कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, पासपोर्ट आदि. जमाकर्ता के पते का प्रमाणपत्र जैसे पासपोर्ट, राशन कार्ड, बिजली बिल, टेलीफोल बिल आदि.पैसे जमा करने के लिए आप नेट-बैंकिंग का इस्‍तेमाल भी कर सकते हैं. खाता खुल जाने पर जिस पोस्‍ट ऑफिस या बैंक में आपने खाता खुलवाया है वह आपको एक पासबुक देता है. 

कौन खुलवा सकता है अकाउंट: आप यह खाता तभी खुलवा सकते हैं जब आप लड़की के प्राकृतिक या कानूनन अभिभावक हों. आप एक बेटी के नाम ऐसा एक ही खाता खुलवा सकते हैं. कुल मिलाकर आप दो बेटियों के नाम यह खाता खुलवा सकते हैं लेकिन अगर दूसरी बेटी के जन्‍म के समय आपको जुड़वां बेटी होती है तो आप तीसरा खाता भी खुलवा सकते हैं.