आज शनिवार को कैसा रहेगा आपका दिन, जानें अपना भविष्यफल

आज शनिवार को कैसा रहेगा आपका दिन, जानें अपना भविष्यफल

विशेष – सभी राशियों के लिए दिन मंगलप्रद बनाने के टिप्स उपयोगी एवं सफलताप्रद जानकारी

अनिष्ट नाशक एवं सफलता के उपाय

सुख, सौभाग्य वृद्धि के लिए – स्नान जल में काले तिल मिला कर स्नान करें।

पीपल वृक्ष की जड़ के समीप तैल का दीपक लगाए। मंत्र बोले-ॐपिप्पलाद ऋषये नमः।
बाधा मुक्ति के लिए दान – उड़द, तिल, काला, वस्त्र ,नीले पुष्प, लोभान का दान करें।

दान -काली गाय, वृद्ध, सेवक को दान दे सकते है।

मंगलमय दिन के लिए कौन सा मंत्र पढ़ें?

आज के मंत्र- शनि का मंत्र
ॐ सूर्य पुत्राय विद्महे, मृत्यु रुपाय धीमहि, तन्नो सौरिः प्रचोदयात्॥ या ऊॅ भगभवाय विद्महे मृत्युरूपाय धीमहि तन्नौ शनिः प्रचोदयात्।।
ॐ प्रां प्रीं प्रौं सः शनैश्चराय नमः॥
नक्षत्र मंत्र- ॐ अश्विनी कुमाराभ्यो नम:।।
श्री मुनि सुव्रतनाथ जिनेन्द्राय नम: सर्व शांतिं कुरु कुरु स्वाहा।

सफलता के लिए, घर से प्रस्थान के समय तिल, चावल, उड़द खाये।
कष्ट, बाधा से बचाव के लिए परवल नहीं खाएं।

कार्य प्रारम्भ के लिए सफलता का समय
07:40-09:20 बजे तक – कुम्भ राशि छोड़ कर शेष सभी राशि के लिए शुभ।
12:20-01:45 बजे तक – वृष राशि छोड़ कर शेष सभी राशि के लिए शुभ।
17:40-18:15 बजे तक – सिंह राशि छोड़ कर शेष सभी राशि के लिए शुभ।
19:20-20:10 बजे तक – मेष, कन्या, मकर राशि छोड़ कर शेष सभी राशि के लिए शुभ।

शुभ प्रभाव के लिए या आपत्ति विपत्ति के प्रतिरोध हेतु उपाय
प्रतिदिन -03अक्टूबर-11 अक्टूबर तक
इष्ट देवी – देव को अर्पित करे- तली भोजन वस्तु ;
दान’करे – तिल तेल या महुए के तेल का दीपक ;
नाश्ते में या घर से निकलते समय खाएं – साठी चावल ;
धन संपदा सुख के लिए – मंत्र पढ़े – ॐ सवित्रे नमः ;

दैनिक राशिफल (Horoscope 02 October)

1. मेष राशि   – चू,चे,चो, ला, ली, लू, ले, लो, अ
किसी भी नए कार्य निर्णय या कि किसी को परामर्श देना उचित नहीं होगा यात्रा स्थगित रखें दैनिक कार्यों में ही रुचि लें नए कार्यों को नहीं करना चाहिए अच्छे समाचार मिलेंगे मान सम्मान एवं स्वास्थ्य उत्तम रहेगा कार्यों की प्रगति से संतुष्ट मिलेगा परिवार एवं परिचितों से सहयोग प्राप्त होगा। यात्रा, व्यय, विवाद, जोखिम के कार्य एवं मीटिंग, लंबित स्थगित रखिए।

2 .वृष राशि  –  ई, उ,ए, ओ, वा,वी, वू,वे, वो. 
यात्रा एवं खर्च के अनायास योग बनेंगे। कार्य परिश्रम से ही पूर्ण होंगे। कार्यालय में कार्य की अधिकता रहेगी। कठिनाइयां बढ़ सकती हैं। स्वास्थ्य बाधा संभव है। राजनीति के क्षेत्र में कष्ट होगा। सामान्य तौर पर लोगों का व्यवहार सहयोगी या मित्रता पूर्ण नहीं रहेगा। यात्रा, निर्णय, नए कार्य का शुभारंभ, जनसंपर्क या सुझाव, उद्घोषणा आदि स्थगित रखना उचित होगा।

3 .मिथुन राशि   – का, की, कू,घ,ड,छ,के, को, ह. 
पद प्रतिष्ठा का प्रयोग एवं सुख उपभोग होगा। परिवार के बड़ो या कार्यालय में उच्च अधिकारियों से पूर्ण कृपा प्राप्त होगी। स्वास्थ्य उत्तम रहेगा। मांगलिक कार्यों में रुचि बढ़ेगी। प्रशंसा एवं ख्याति के सुयोग हैं। हाथ में लिए हुए कार्य पूर्ण होंगे। नेतृत्व क्षमता बढ़ेगी यश बढ़ेगा। यात्रा, निर्णय, नए कार्य का शुभारंभ, महत्वपूर्ण हस्ताक्षर, बैठक, सम्बोधन, जन संपर्क या सुझाव, उद्घोषणा आदि स्थगित रखना उचित होगा ।

4. कर्क राशि  – ही, हू, हे, हो, डा, डी, डू,डे,डो. 
अच्छे लोगों से परिचय होगा कार्यों में सफलता मिलेगी पद प्रतिष्ठा के अच्छे अवसर हैं विद्या के क्षेत्र में यश पड़ेगा सफलता मिलेगी राजनीति में गौरव तथा यश बढ़ेगा मित्र वर्ग से पूर्ण सहयोग मिलेगा शासन या राज्य मैं आपके कार्य प्रगति पर रहेंगे सज्जन वर्ग से विशेष सहयोग मिलेगा व्यापार में प्रगति होगी समय का भरपूर उपयोग करने का सुझाव दिया जाता है। यात्रा, निर्णय, नए कार्य का शुभारंभ आदि स्थगित रखना उचित होगा।

5. सिंह राशि – मा, मी,मू,मे,मो,टा,टी, टू, टे. 
व्यवहार में अतिरिक्त कुशलता की आवश्यकता है परिवार के बड़ों से मित्रों से तथा कार्यालय में अधिकारियों से मतभेद या विरोध की स्थिति बन सकती है अनपेक्षित अपमान की स्थिति से बचना उचित होगा प्रत्येक क्षेत्र अतिरिक्त प्रयास के उपरांत ही सफल हो सकता है इसलिए समय को देखते हुए किसी भी प्रकार अति उत्साह से दूर रहना उचित होगा।

6. कन्या राशि- टो,प,पी, पू,ष,ण,ठ,पे, पो. 
आपके कार्यों की सफलता संदिग्ध है। विरोधी बढ़ेंगे। राजनीति में छल की संभावना है। विश्वास के परिणाम प्रतिकूल होंगे। दांपत्य साथी का स्वास्थ्य खराब हो सकता है। आवश्यक खर्चों में वृद्धि होगी। शारीरिक एवं मानसिक कष्ट की स्थिति से बचने के लिए कोई भी कार्य करने में शीघ्रता नहीं बरतें बरतें। यात्रा, नए कार्य का शुभारंभ, जन संपर्क या सुझाव, उद्घोषणा आदि स्थगित रखना उचित होगा।

7. तुला राशि – रा, री, रू,रे, रो, ता,ती, तू, ते. 
दांपत्य जीवन के सुख में वृद्धि होगी। पुत्र एवं पुत्री के द्वारा पूर्ण सहयोग प्राप्त होगा। कार्यालय में अनुकूल परिस्थितियां रहेंगे। व्यापार में लाभ की स्थिति रहेगी। नए कार्य या उत्तरदायित्व मिल सकते हैं। स्वास्थ्य उत्तम रहेगा। नए कार्य के श्री गणेश के लिए उत्तम अवसर है।

8. वृश्चिक राशि  –  तो, ना, नी,नू,ने, नो, या, यी,यू.  
स्वास्थ्य बाधा का योग रहेगा। राजनीति में विरोधी पराजित होंगे। आपके कार्यों की प्रशंसा होगी। आपके द्वारा किये  गए कार्य यश दिलवाएंगे। धन के क्षेत्र में अनुकूल स्थितियां बनेंगी। सफलता के योग अच्छे हैं परंतु बाजार के काम, परामर्श देना ,यात्रा, नए कार्य प्रारंभ करना उचित नही होगा

9. धनु राशि   – ये, यो, भ,भी, भू, ध,फ,ढ,भे. 
आज के दिन अप्रिय स्थितियों की स्थिति रहेगी। इसलिए प्रत्येक कार्य को सूझबूझ के बाद अथवा सोचने विचारने के उपरांत ही करना उचित होगा। आर्थिक सामाजिक एवं राजनीतिक तीनों स्तर पर मन के अनुकूल कार्य नहीं हो सकेंगे ।धार्मिक आध्यात्मिक एवं दान आदि के कार्य में रुचि बढ़ सकती है। बाधाएं कम हो सकती हैं।

10. मकर राशि –  भो,जा, जी, खी,खू,खे, खो, ग,गी. 
अपने व्यवहार के प्रति विशेष सजग रहना उचित होगा। पारिवारिक सुख में कमी होगी। विवाद एवं मतभेद की स्थितियां निर्मित हो सकती हैं। दांपत्य साथी से सहयोग की अपेक्षा ना रखें। रोजगार में किसी भी प्रकार की जोखिम भविष्य में समस्या उत्पन्न कर सकती है ।स्वास्थ्य के प्रति ध्यान रखें। आर्थिक पक्ष कमजोर रहेगा।

11. कुंभ राशि  – गू, गे,गो, सा, सी, सू,से, सो, द.   
विपरीत स्थितियों पर नियंत्रण स्थापित होगा। शत्रु पराजित होंगे। आपका मनोबल एवं आत्मविश्वास आपको यश एवं सफलता प्रदान करेगा। स्थाई संपत्ति एवं लाभ की स्थिति उत्तम है। छोटे भाइ बहन की प्रगति या उनसे पूर्ण सहयोग प्राप्त होगा। विवाद के सभी मामलों में अथवा इंटरव्यू परीक्षा में सफलता के अच्छे योग हैं।

12. मीन राशि  – दी, दू,थ,झ,ञ,दे, दो, चा,ची 
नए समाचार या प्रिय आत्मीय से मिलन,तथा सुखद स्थितियाँ आनंदित करेंगी। मन में उदारता एवं दया भावना की कमी होगी। अनपेक्षित स्थिति से क्रोध एवं विवाद की स्थिति बन सकती है। खर्च बढ़ेगा। आकस्मिक अप्रिय स्थिति निर्मित होगी।  महत्वपूर्ण कार्यों को टालना उचित होगा।दैनिक कार्य सरलता से पूर्ण होंगे। सामान्यतः संमस्या नही आएगी। यात्रा, निर्णय, नए कार्य का शुभारंभ, जन संपर्क या सुझाव, उद्घोषणा आदि स्थगित रखना उचित होगा।